राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान हमीरपुर: हिमालय में गुरुकुल

1
293

हिमालय की धौलाधार पर्वत श्रृंखलाओं से घिरे हुए हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर में बना है राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान हमीरपुर। प्रकृति की सुंदर छटा को देखकर विद्यार्थी महसूस करता है कि उसका कठिन परिश्रम सफल हुआ। इसकी सुंदरता को देखते ही मन शीतल हो जाता है। किसी अभियांत्रिकी के छात्र के लिए यह जगह किसी स्वर्ग से कम नहीं है। स्वच्छ वायु में स्वास लेते ही एक आनंद ऑर रोमांच का अनुभव होता है जो अवर्णीय है।इस संस्थान के आगे अन्य संस्थानों की शोभा लघु प्रतीत होती है शायद इसी लिए यहां पूरे भारत का दूसरा सबसे सुंदर कॉलेज है।

इसकी आधारिक रचना अपने आप में अभियांत्रिकी का अनूठा नमूना है। एक तरफ बुलंद खड़ी बड़ी बड़ी इमारतें उसी के साथ दूसरी ओर सुंदर मनमोहक हरा भरा जंगल। जितनी सुंदर इसकी शोभा है उससे भी अधिक सुंदर है इसका मौसम। यहां आपको छात्र कभी खिलखिलाती धूप का आनंद लेते स्टूडेंट्स पार्क में मिलेंगे तो कभी सरदी में गर्म गर्म चाय का आनंद लेते हुए जूस बार पर।

जैसा उच्च स्तरीय यह संस्थान है वैसे ही अनुभवी, बुद्धिमान यहां के प्रोफेसर हैं। सभी विभागों के प्रोफेसर छात्रों का सही मार्ग दर्शन करने हेतु तत्पर रहते हैं। यहां के अध्ययन कक्ष भी आधुनिक प्रौद्योगिकी का परिचय देते हैं। यहां के विभिन्न विभागों की प्रयोगशालाएं हर प्रकार के आधुनिक उपकरणों से युक्त है। यहां के प्रयोगशाला सहायक भी मिलनसार स्वभाव के है और वे छात्रों को हर उपकरण का ज्ञान विस्तार से देते है।

संस्थान में छात्रावास की सुविधा भी उपलब्ध है। छात्रावास में छात्रों को एक अलग वातावरण मिलता है। अपने घरों से दूर नए दोस्तों के बीच एक अलग माहौल में, लेकिन यहां की बात ही कुछ ऐसी है कि किसी को अकेलापन महसूस नहीं होने देती। छात्रावास में लैन और वाई फाई की भी सुविधा उपलब्ध है। छात्रावास में पानी 24 घंटे आता ही है लेकिन वर्षा ऋतु में पास की व्यास नदी में मिट्टी अधिक होने से पंप उपकरण खराब हो जाता जिसके कारण समस्या होती लेकिन छात्रावास समिति उस स्थिति में भी पानी का प्रबंध करती है। छात्रावास में भोजनालय का भोजन उच्च गुणवत्ता से युक्त होता है लेकिन घर में मां के हाथों का जो स्वाद होता उसके आगे ये भोजन फीका ही प्रतीत होता। छात्रावास में छात्रों के लिए विभिन्न खेलों का भी प्रबंध है जैसे बैडमिंटन, टेबल टेनिस आदि आदि।

संस्थान के कैंपस में एक औषधालय भी है जहां छात्रों के स्वास्थ्य का ध्यान रखने के लिए अच्छे डॉक्टर 24 घंटे उपलब्ध रहते। यहां 24 घंटे रोगी वाहन (एम्बुलेंस) की सुविधा भी रहती। छात्रों की उपयोगी वस्तुओं के दुकानें सब कैंपस में ही है इसलिए छात्रों को कहीं बाहर नहीं जाना पड़ता। संस्थान में छात्रों के खेलने हेतु एक बड़ा से मैदान भी है जहां छात्र विभिन्न खेल खेलते है और स्वस्थ रहते हैं।

प्रथम वर्ष के छात्रों के लिए कड़े नियम रखे जाते है। उस समय विद्यार्थी यही सोचता है कि क्यूं ये नियम है लेकिन अंतिम वर्ष आते आते वो उन दिनों के याद करता है और यादों में डूब जाता है।

संस्थान में एक बड़ा पुस्तकालय भी है जहां हर प्रकार की पुस्तकें उपलब्ध हैं। इतने विशाल पुस्तकालय में आप कुछ ही मिनटों में पुस्तक खोज सकते हो एक उपकरण की सहायता से। यह भी एक प्रौद्योगिकी का देखने योग्य आविष्कार है।

संस्थान में बाहरी राज्यों से आने वाले छात्रों के लिए कट ऑफ रैंक 25000 और गृह राज्यों के छात्रों के लिए 350000 के करीब रहता है। (यह रैंक हर साल बदलते रहते हैं)

संस्थान के छात्र कई बड़ी बड़ी कम्पनियों में नौकरी कर रहे है। यहां का प्लेसमेंट का औसत लगभग 86 प्रतिशत है। संस्थान से पढ़े हुए छात्र अपने जूनियर दोस्तों से बात करते है और उनका मार्ग दर्शन भी करते है। अभी फिलहाल में ही संस्थान के एलूमनाई ग्रुप ने https://alumni.nith.ac.in/ एक प्लेटफॉर्म तैयार किया है जिसकी सहायता से संस्थान में पढ़ रहे और संस्थान से पढ़ चुके सभी छात्र एक दूसरे के संपर्क में रहते हैं।

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान हमीरपुर में पढ़ना अपने आप में एक गौरव की बात है।

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान हमीरपुर पर अपने प्यारे अनुभव को साझा करने के लिए धन्यवाद अभिषेक शर्मा!!

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here